25 जून को मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय नाविक दिवस जाने क्या क्या है जरुरी बातें || Day of the Seafarer

 

    दोस्तों आपको ये जानना बहुत ही जरुरी है की पूरी दुनिया के अंदर वाणिज्य एवं आर्थिक प्रणाली में नाविकों  का बहुत ही अधिक योगदान है| इसको मान्यता देने के उद्देश्य से हर वर्ष के 25 जून को अंतराष्ट्रीय नाविक दिवस का आयोजन किया जाता है। देखा जाये तो पूरी दुनिया में लगभग 90 प्रतिशत व्यापार 'जहाज़ों के माध्यम से किया जाता है और इन सभी जहाज़ों का देख रेख नाविकों द्वारा किया जाता है| जो समुंद्री रास्तो के माध्यम से व्यापार के सही रूप से प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिये बहुत ही मन से और बहुत ही अधिक प्रयास करते हैं।

 

अंतर्राष्ट्रीय नाविक दिवस

    प्यारे दोस्तों अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन(IMO) जो कि पानी वालो जहाजों को विनियमित करने हेतु उत्तरदायी संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष प्रकार की एजेंसी है, संयुक्त राष्ट्र ने ही वर्ष 2010 में हर वर्ष 25 जून को अंतर्राष्ट्रीय नाविक दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा की। इसके बाद वर्ष 2011 में  पहली बार अंतर्राष्ट्रीय नाविक दिवस का आयोजन किया गया।

 

    मेरे प्यारे दोस्तों ये तो आपको जानना बहुत ही जरुरी है की इस अंतराष्ट्रीय नाविक दिवस की शुरूआत का पहला लक्ष्य यह था की आम लोगों को वैश्विक व्यापर और वैश्विक परिवहन में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले नाविकों के कार्य और उनके संदर्भ में जागरूक करना।


अंतर्राष्ट्रीय समुद्दी संगठन (IMO)

    आप सब के  ज्ञान के लिए बता दू की अंतर्राष्ट्रीय समुद्दी संगठन (IMO) संयुक्त राष्ट् की एक विशेष प्रकार की संस्थानों में से एक है, जिसकी स्थापना वर्ष 1948 में स्विट्जरलैंड जिनेवा में सम्मेलन के दौरान एक समझौते के माध्यम से की गई थी। यह एक अंतर्राष्ट्रीय मानक-निर्धारण प्राधिकरण है जो मुख्य रूप से अंतराष्ट्रीय पानी के जहाजों की सुरक्षा में सुधार करने हेतु उत्तरदायी है|

Post a Comment

0 Comments